URL Kya Hai और Website URL क्या होता है

URL क्या है – URL को internet address या web address भी कहा जाता है। URL का फुल फॉर्म है: Uniform Resource Locator, इसे इंटरनेट पर मौजूद वेबसाइट, पेज या फाइल के लोकेशन को दर्शाने के लिए यूज किया जाता है।
यूआरएल का उदाहरण है https://www.skillohindi.in, यह हमारी वेबसाइट Skillohindi का URL है।

URL Kya Hai (What is URL in Hindi)

URL एक विशेष स्ट्रक्चर में लिखा हुआ शॉर्ट टेक्स्ट होता है। जिसे इंटरनेट में वेबसाइट और वेबपेज के एड्रेस के तौर पर यूज किया जाता है।
उदाहरण के लिए – आपका घर आपकी वेबसाइट है तो आपके घर के एड्रेस को URL कहा जाएगा।

URL पर क्लिक करके यूजर उस URL के द्वारा दर्शाये गए ठिकान (लोकेशन) पर पहुंचता है। यूजर URL को सर्च इंजन में टाइप करके या फिर hyperlink पर क्लिक करके भी उसके रिसोर्स तक पहुंचा जा सकता है।

जैसे कि आप “SEO friendly URL कैसे लिखें” इस hyperlink पर क्लिक करोगे तो आप इसके पोस्ट पर पहुंच जाओगे।

URL में बहुत से Parts शामिल होते हैं जिनके बारे में हम नीचे विस्तार से जानेंगे। लेकिन इसके पहले मैं आमतौर पर यूज होने वाले URL Structure के बारे में बात करूंगा।

URL के तीन हिस्से कौन से होते हैं?

एक उदाहरण के साथ इस लेखक के URL का उपयोग करते हुए हमने आपको URL के तीन मूल भाग (हिस्से) को दिखाया है। जिसमें शामिल है,

  1. प्रोटोकॉल (Protocol)
  2. डोमेन नाम (Domain Name)
  3. पाथ (Path)
url kya hai

यूआरएल किस Bar में Show होता है?

URL आपकी ब्राउज़र विंडो के एड्रेस बार में दिखता है। यह URL डेस्कटॉप कंप्यूटर और लैपटॉप पर ब्राउज़र विंडो के एड्रेस बारे में तबतक दिखाई देगा जबतक आप फुल स्क्रीन ना करो। जैसी आप फुल स्क्रीन में जाते हो URL दिखना बंद हो जाएगा। मोबाइल और टेबलेट ब्राउज़र में जब आप निचे स्क्रॉल करते हैं तो URL छुप जाएगा और ऊपर स्क्रॉल करते समय दिखाई देगा।

URL Parts in Hindi (URL Overview)

url kya hai

Protocols – इंटरनेट पर रिसोर्स तक पहुंचने के लिए protocol का उपयोग किया जाता है। Protocols में http, https, ftps, mailto और file शामिल है।

Subdomain – Subdomain को main domain का Subdivision कहां जाता है। book.skillohindi.in और mail.skillohindi.in यह skillohindi.in इस डोमेन नाम के Subdomain है। (ऊपर के यूआरएल में video.google.co.uk यह google.co.uk का subdomain है)

Host name/domain name – डोमेन नाम वह टेक्स्ट है जिसे यूजर्स किसी विशेष वेबसाइट तक पहुंचने के लिए सर्च इंजन में टाइप करते है। उदाहरण के लिए – Facebook का डोमेन नाम facebook.com है।

Port Name – आमतौर पर URL में दिखाई नहीं देता लेकिन यह जरुरी है। यह URL में हमेशा TLD डोमेन नेम के बाद दिखता है जिसके सुरुवात में कोलन (:) होता है। HTTP पोर्ट 80 का उपयोग करता है और HTTPS पोर्ट 443 का उपयोग करता है। पोर्ट को कोलन (:) के बाद लिखा जाता है।

Path – Path के द्वारा वेब सर्वर में फाइल या डायरेक्टरी को दर्शाया जाता है। इसके के द्वारा वेबसाइट का स्ट्रक्चर पता चलता है। Path को डोमेन नेम के बाद /(फॉरवार्ड स्लैश) देकर लिखा जाता है। उदाहरण – /directory/file.php.

Query – यह डायनेमिक पेजस के URL में दिखाई देता है। क्वेरी में एक प्रश्न चिन्ह होता है जिसके बाद पैरामीटर होते हैं।

उदाहरण – https://www.facebook.co.uk/search?q=anatomy+of+a+url&ie=utf-8&oe=utf-8&aq=t&rls=org.mozillaien-GB:official&client=firefox-a

ऊपर के URL में क्वेरी पार्ट है – ?q=anatomy+of+a+url&ie=utf-8&oe=utf-8&aq=t&rls=org.mozillaien-GB:official&client=firefox-a

Parameters – URL parameters को क्वेरिस्ट्रिंग के रूप में भी जाना जाता है। URL में प्रश्नचिन्ह (?) के बाद कोई भी शब्द एक पैरामीटर कहलाता है। एक से ज्यादा पैरामीटर्स को & से अलग किया जाता है। ऊपर के URL से parameters को समजो।

  • q = anotomy+of+a+url
  • ie=utf-8
  • oe=utf-8
  • aq=t
  • rls=org.mozillaien-GB:official
  • client=firefox-a

Fragment – यह इंटरनल पेज का रेफरेंस है, जिसे वेब पेज के अंदर सेक्शन को दर्शाने के लिए यूज किया जाता है। यह URL के अंत में दिखाई देगा जिसे हैशटैग (#) के साथ लिखा जाता है।

HTTP Vs HTTPS in Hindi

Browser से डेटा को पुनप्राप्त करने के लिए HTTP और HTTPS दोनों का उपयोग किया जाता है। दोनों में अंतर यह है की HTTPS में यूजर और सर्वर के बीच डेटा एनक्रिप्ट (सुरक्षित) रहता है। HTTPS में S का मतलब है Secure.

वेबसाइट में HTTP से HTTPS करने के लिए secure socket layer (SSL) प्रमाण पत्र का उपयोग किया जाता है। यह लगाने के बाद वेबसाइट URL में Secure लिखकर आता है।

Website URL क्या होता है?

ज्यादातर लोग URL को देखकर कंफ्यूज होते हैं क्योंकि उन्हें website URL और webpage(पोस्ट) URL में अंतर नहीं पता। इन दोनों में अंतर की बात करें तो website URL में सिर्फ domain name पता है। वही webpage URL में website name के साथ slug भी होता है। जो वेबसाइट के किसी एक पोस्ट या पेज को दर्शाता है। जैसे की, website URL – https://www.skillohindi.in/ और webpage URL – https://www.skillohindi.in/url-kya-hai/

URL Kya Hai से जुड़े FAQ

Q. यूआरएल कैसे खोले?

यूआरएल को खोलने के लिए आपको Hyperlink पर क्लिक करना होगा। या उस URL को कॉपी करके ब्राउज़र में सर्च बार में पेस्ट करके search करो।

Q. Google का URL क्या है?

Google का यूआरएल है: www.google.com

Q. URL Full Form in Hindi?

URL का फुल form है: Uniform Resource Locator.

मुझे उम्मीद है की आपको URL Kya Hai यह जरुर समज आया होगा। यदि ऐसा है तो आप इस पोस्ट को अपने दोस्तों के साथ और सोशल मीडिया पर भी जरुर शेयर करो।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *