Networking क्या है? (Mesh, Star, Bus, Ring) (LAN, MAN, WAN)

Networking क्या है – आखिर के कुछ दशको में communication टेक्नोलॉजी बहुत फ़ास्ट बढ़ चुकी है। कंप्यूटर छोटे और शक्तिशाली बने है। कंप्यूटर और कम्युनिकेशन टेक्नोलॉजी का कंप्यूटर सिस्टम के आयोगन के तरीके पर गहरा आसार पड़ा है। पहले आर्गेनाइजेशन में एक पावरफुल कंप्यूटर की मदद से सभी काम करे जाते थे लकिन अब बदलाव आया है। आज के समय बहुत सारे छोटे कंप्यूटर को आपस में जोड़कर काम किया जाता है। उदाहरण – किसी कंप्यूटर सेंटर में बहुत सारे कंप्यूटर को एक ही प्रिंटर जुडा होता है जो सबके साथ काम करता है। इसी तरीके को compuer networking कहा जाता है।

Networking क्या है |Computer Networking in Hindi

Networking कम्युनिकेशन लिंक से जुड़े उपकरणों का एक समूह है। एक कंप्यूटर नेटवर्क दो या दो से अधिक कंप्यूटर, प्रिंटर का एक समूह वायर मीडिया या वायरलेस मीडिया के माध्यम से डेटा को भेजता और प्राप्त करता है।

यह डेटा वॉइस, वीडियो, टेक्स्ट और इमेज के फॉर्म में हो सकता है। networking में डेटा ट्रांसमिशन बहुत फास्ट होता है। कुछ ही सेकंड में डेटा को शेयर किया जाता है। यहां कम्युनिकेशन का एक अत्याधिक सुरक्षित माध्यम है और शानदार रूप से कुशल भी है।

Network का सबसे अच्छा उदाहरण इंटरनेट है।

Network device क्या है

Network devices की मदद से अलग अलग devices को आपस में जोड़कर network बनाया जाता है। network device से कंप्यूटर या दुसरे इलेक्ट्रॉनिक devices को आपस में जोड़ा जाता है और इनके माध्यम से डाटा या इनफार्मेशन को शेयर किया जाता है।

निचे सभी network devices को बताया गया है।

Bridge

Bridge एक नेटवर्क डिवाइस है। Bridge को समान LANs को एक दूसरे से जोड़ने के लिए यूज किया जाता है। (उदाहरण – Ethernet, FDDI) बहुत से LAN को जोड़कर एक बड़ा LAN बनाने को bridging कहा जाता है। (आगे हम LAN के बारे में जानेंगे)

कंप्यूटर नेटवर्क में ब्रिज का कार्य हर नोट में डाटा प्रसारित करने के लिए repeater और hub के समान है।

Hub

Hub एक नेटवर्क डिवाइस है जो OSI model के फिजिकल लेयर पर काम करता है। जिसका उपयोग नेटवर्क में कई डिवाइसेज को जोड़ने के लिए किया जाता है।

Hub विभिन्न शाखा से आने वाले कई वायरो को जोड़ता है इसलिए इसे सेंट्रल कनेक्शन पॉइंट भी कहा जाता है।

Switch

Switch एक नेटवर्क डिवाइस है। यह फिसिकल डिवाइस दो या दो से अधिक डिवाइस (कंप्यूटर, प्रिंटर) के बीच स्थाई कनेक्शन बनाने में सक्षम होते हैं।

नेटवर्क डिवाइस स्विच मुख्य रूप से OSI मॉडल का लेयर-2 डिवाइस है।

MAC address के आधार पर switch द्वारा पैकेट आगे भेजा जाता है। Switch के द्वारा डेटा को केवल उस डिवाइस में स्थानांतरित किया जाता है जिस डिवाइस का MAC address उसके पास है। क्योंकि पैकेट को उचित तरीके से रूट करने के लिए MAC address का होना जरूरी है।

Router

Router एक नेटवर्क डिवाइस है। यह सामान्य रूप से LAN और WAN को एक साथ जोड़ता है। Router 3 लेयर पर काम करता है जिसमें फिजिकल लेयर, डाटा लिंक लेयर, नेटवर्क लेयर शामिल है।

Network layer में router सबसे ज्यादा यूज होने वाला डिवाइस है। Router, MAC address के साथ IP address को भी चेक कर सकता है।

Router एक गतिशील रूप से अद्यतन करने वाली routing तालिका होती है। जिसके आधार पर वे डाटा पैकेट को भेजनेका (रूट) का निर्णय होता है।

Repeater

Repeater एक नेटवर्क डिवाइस है जो सिर्फ फिजिकल लेयर पर काम करता है। इसका काम समान नेटवर्क पर सिग्नल कमजोर होने से पहले सिग्नल को रीजनरेट करने का होता है। जिससे सिग्नल की ट्रांसमीट लेंथ बढ़ जाती है।

Repeater के बारे में सबसे महत्वपूर्ण यह है कि यह सिग्नल को amplify नहीं करता। Repeater सिग्नल को सिर्फ बिट-बिट रीजनरेट करता है। यह एक 2 पोर्ट से डिवाइस है।

Gateway

Gateway एक networking device है जिसका उपयोग नेटवर्क के बीच संचार के लिए किया जाता है। यह OSI model के पांचवें लेयर पर काम करता है।

Gateway, network के लिए एक entry या exit point के रूप में कार्य करता है। क्योंकि सभी डाटा को रूट को जाने से पहले gateway से गुजरना होता है।

Brouter

Brouter एक नेटवर्क डिवाइस है, जो ब्रिज और राउटर दोनों के संयोजन के रूप में काम करता है। यह ब्रिज और राउटर के कार्य प्रदान करता है ताकि यह OSI model डेटालिंक और नेटवर्क पर काम कर सके।

Brouter उन नेटवर्क को जोड़ता है जो विभिन्न प्रोटोकॉल का उपयोग करते हैं। इसे केवल ब्रिज के रूप में या केवल राउटर के रूप में काम करने के लिए प्रोग्राम किया जा सकता है।

Modem

Modem एक नेटवर्क डिवाइसेज है जो केबल का उपयोग करके डिवाइसों को इंटरनेट से जोड़ता है। एक Modem एक डिजिटल अनुवाद के रूप में काम करता है जो केबल, फाइबर या फोन लाइन से सूचना संकेत लेता है और इसे आपके कंप्यूटर तक पहुंच योग्य बनाता है।

Network topology क्या है? – Topology in Hindi

Network topology एक geometry graph के संदर्भ में जुड़े उपकरण के संबंध का वर्णन करता है। उपकरणों को edges के रूप में दर्शाया जाता है। और यह उपकरणों के बीच के कार्य को भी दर्शाता है।

1. Mesh topology –

Mesh topology kya hai

इस topology को fully interconnected topology भी कहा जाता है। इसमें सभी device एक दूसरे के साथ जुड़े होते हैं। यहां किसी भी दो डिवाइस में डायरेक्ट कम्युनिकेशन हो सकता है।

Advantages –

1. ट्राफिक की कोई समस्या नहीं होती क्योंकि यहां पर किसी भी दो डिवाइस में एक सेपरेट लिंक होती है।

2. इसमें प्राइवेसी का एडवांटेज मिलता है क्योंकि डाटा सिर्फ सेपरेट लिंक से भेजा जाता है और यह डाटा सिर्फ़ प्राप्तकर्ता ले पाता है।

3. इस टोपोलॉजी में सबसे अच्छी सिक्योरिटी और विश्वसनीयता मिलती है।

Disadvantages –

1. बहुत ज्यादा मात्रा में केबल और पोर्ट्स की जरूरत होती है।

2. नए डिवाइस को इंस्टॉल करना और उसे रिकनेक्ट करना कठिन होता है।

3. Mesh Topology महंगी है क्योंकि इसमें बहुत ज्यादा मात्रा में हार्डवेयर (cable, ports) की जरूरत होती है।

2. Star topology

Star topology kya hai

Star topology में हर एक डिवाइस सेंटर के hub या switch को लिंक होता है। hub एक डिवाइस से दूसरे डिवाइस में डेटा भेजते वक्त exchange के रूप में काम करता है।

यहापर Mesh Topology के जैसा दो डिवाइस डायरेक्ट कम्युनिकेट नहीं कर सकते। यहां पर सभी कम्युनिकेशन सिर्फ कंट्रोलर (hub) के माध्यम से होता है।

Advantages –

1. Star topology को इंस्टॉल और रीकॉन्फ़िगर करना आसान है।

2. फॉल्ट को ढूंढना और उसे ठीक करना आसान बनता है।

3. हर डिवाइस को सिर्फ एक ही लिंक की जरूरत होती है। इसके अलावा सिर्फ एक Port का यूज़ होती है, इसलिए यह सस्ता है।

Disadvantages –

Network का performance, hub पर depend रहता है। यदि hub फेल होता है तो entity network फेल हो जाता है।

3. Bus topology

Bus topology kya hai

Network में मौजूद सभी डिवाइस एक ही केबल से जुड़े होते हैं। यह सभी डिवाइस एक drop links या taps की मदद से केबल को जुड़ते हैं।

इसलिए इसे multipoint topology भी कहा जाता है।

Advantages

1. Bus Topology को इंस्टॉल करना आसान है।

2. यहां पर केबल की जरूरत Mesh और Star Topology की तुलना में कम होती है। इसलिए यह सस्ती टोपोलॉजी है।

Disadvantages –

1. यहां पर किसी एक फॉल्ट को ढूंढना कठिन होता है।

2. यदि bus cable में कोई फॉल्ट या ब्रेक आता है तो सभी ट्रांसमिशन स्टॉप होता है।

3. Bus cable कितने डिवाइस को सपोर्ट कर सकता है यह इसमें लिमिटेड है।

4. Ring topology

Ring topology kya hai

Ring Topology में हर डिवाइस अपने पड़ोसी वाले दो डिवाइस से पॉइंट टू पॉइंट लिंक से कनेक्ट होता है। सिग्नल रिंग के साथ एक दिशा में तब तक चलता है जब तक वह अपने डेस्टिनेशन तक नहीं पहुंच जाता।

Advantages –

1. क्योंकि प्रत्येक डिवाइस केवल उसके पड़ोसियों से जुड़ा होता है। इसलिए रिंग नेटवर्क को स्थापित करना आसान होता है।

2. फॉल्ट को ढूंढना आसान है क्योंकि गलत डिवाइस का कनेक्शन बदल कर बायपास किया जा सकता है।

3. एक समय में केवल एक डिवाइस डेटा भेजता है।

Disadvantages –

1. प्रमुख बाधा अधिकतम रिंग लंबाई और जुड़े हुए उपकरणों की संख्या है।

2. रिंग में ब्रेक पूरे नेटवर्क को निष्क्रिय कर सकता है।

3. ट्रैफिक यूनिडायरेक्शनल होने की वजह से डाटा ट्रांसफर धीमा है।

5. Tree topology

Tree topology kya hai

Tree topology मल्टीपल स्टार टोपोलॉजी को एक लीनियर बस टोपोलॉजी में एकत्रित करती है। हर hub फंक्शन डिवाइस के पेड़ की जड़ है। यह एक “star wired tree” topology है।

6. Hybrid topology

यह दो या दो से अधिक बुनियादी टोपोलॉजी का संयोजन है। जब दो अलग-अलग नेटवर्क जुड़े होते हैं तो आमतौर पर इसका परिणाम hybrid topology होता है। विस्तृत क्षेत्र नेटवर्क में हाइब्रिड टोपोलॉजी होती है।

Types of Computer Network in Hindi

1. Local Area Network (LAN) –

LAN एक प्राइवेटली स्वामित्व वाला नेटवर्क है, जो एक ही कमरे में, बिल्डिंग में, कैंपस में डिवाइस को जोड़ता है। यह कुछ ही किलोमीटर तक फैला होता है।

LAN का उपयोग रिसोर्सेज ऑफ इंफॉर्मेशन को शेयर करने के लिए किया जाता है। इसके लिए computers, cables, switches इन हार्डवेयर की जरूरत होती है। LAN को ज्यादातर संस्था, स्कूल, कॉलेज, बैंक में यूज़ किया जाता है।

ज्यादातर ऑर्गेनाइजेशन एक से ज्यादा LANs का उपयोग करती है जिन्हें bridge और switches जैसे डिवाइस से कनेक्ट किया जाता है।

Size – LAN आकार में प्रतिबंधित है इसलिए ट्रांसमिशन गति निर्धारित होती है।

Transmission technology – पारंपारिक LAN का डेटा दर 10mbps से 100mbps तक होता है। नए LAN 10gbps तक की स्पीड देने में सक्षम है।

Topoloy – bus, ring और star यह सबसे कॉमन LAN topology है।

2. Metropolitan Area Network (MAN) –

MAN एक नेटवर्क है जो पूरे शहर में फैला हुआ होता है। सामान्य केबल, टेलीविजन नेटवर्क या कई LAN एक दूसरे से कनेक्ट होना यह एक MAN Network कहलाता है।

उदाहरण के लिए – कंपनी ने पूरे शहर में फैले अपने सभी कार्यालयों को LAN से जोड़ने के लिए एक MAN का उपयोग किया।

MAN को प्राइवेट या पब्लिक सर्विस कंपनी (टेलीफोन कंपनी) द्वारा own किया जा सकता है।

3. Wide Area Network (WAN) –

WAN बहुत ही बड़े एरिया में फैला हुआ होता है। इसमें देश, खंड और पूरी दुनिया तक शामिल है। WAN के द्वारा बहुत ही दूर तक डेटा को वॉइस, इमेजेस और वीडियोस से प्रोवाइड किया जाता है। WAN का सबसे बड़ा उदाहरण है इंटरनेट।

WAN आमतौर पर point-to-point ट्रांसमिशन तकनीक का उपयोग करता है।

4. Home Network –

होम नेटवर्क मतलब घर के भीतर उपकरणों का एक नेटवर्क होता है। यह डिवाइस एक दूसरे से कम्युनिकेट कर सकते है और इंटरनेट के जरिए कंट्रोल किए जा सकते है।
उदाहरण – कंप्यूटर, टीवी, म्यूजिक सिस्टम, कैमरा आदि

घरेलू उपकरण – वाशिंग मशीन, रेफ्रिजरेटर, लाइट आदि

कुछ महत्वपूर्ण Network terms

MAC address – MAC address या physical address प्रकोष्ठ की विशिष्ट रूप से पहचान करता है। यह नेटवर्क इंटरफेस कार्ड (एनआईसी) से जुड़ा है।

IP address – पूरे नेटवर्क में सिस्टम के network address को IP address कहा जाता है।

Port – Port एक चैनल है जिसके माध्यम से डेटा भेजा और प्राप्त किया जाता है।

Network packets – यह वह डेटा होता है जो किसी नेटवर्क में नोड्स को भेजा जाता है और उस नोट्स के द्वारा भी भेजा जाता है।

Nodes – यह सारे नेटवर्क में नेटवर्क पैकेट भेजता है और प्राप्त करता है।

Open system – यहां नेटवर्क से कनेक्ट होता है और कम्युनिकेशन के लिए तैयार होता है।

Closed system – यहां नेटवर्क से जुड़ा नहीं होता है इसलिए इसके साथ कम्युनिकेशन नहीं किया जा सकता है।

हमने क्या सिखा?

इस पोस्ट में हमने आपको Networking क्या है यह विस्तार से बताया है। यदि आपने यह पोस्ट बिना स्किप करे पढ़ी है तो आप networking के बारेमे बहुत कुछ जान चुके हो।

उम्मीद करता हू आपको यह जानकारी समज आयी होगी और इसको आप कभी नहीं भूलोगे।

मै आपसे निवेदन करता हू की आप इस पोस्ट को अपने दोस्तों के साथ शेयर करो, जिससे वह भी network क्या होता है यह hindi भाषा मे समज पाए।

2 Comments

  1. hey there and thank you to your information ?I have certainly picked up something new from proper here. I did then again expertise several technical issues the use of this web site, since I skilled to reload the site many occasions prior to I may get it to load properly. I have been wondering if your web hosting is OK? Now not that I’m complaining, but slow loading cases times will sometimes affect your placement in google and could injury your quality rating if ads and ***********|advertising|advertising|advertising and *********** with Adwords. Well I am adding this RSS to my email and could glance out for a lot extra of your respective interesting content. Make sure you update this once more soon..

Leave a Reply

Your email address will not be published.