Internal linking क्या है और SEO Friendly कैसे करे?

On-page SEO में internal linking मेरा सबसे पसंदीदा पार्ट है. क्युकी इसे करने में बहुत ही कम समय लगता है लेकिन इसका बेनिफिट बहुत ही ज्यादा है.

Internal linking करना बहुत ही आसान है. यदि आप रणनीति के साथ internal linking करते हो तो आपके site की ranking कई गुना बढ़ेगी.

आज के इस पोस्ट में मैं आपको बताऊंगा कि internal linking क्या है? और SEO के नजरिए से internal linking कैसे किया जाता है?

internal-linking-kya-hai

Internal link क्या है?

जब समान domain मे एक Post से दूसरे Post को link किया जाता है तो उसे internal link कहते हैं.

या

किसीभी ब्लॉग में एक पोस्ट से दुसरे पोस्ट को लिंक करनेको Internal Linking कहते है.

यह external linking से बिलकुल अलग है. external linking में दुसरे site (Domain) से लिंक लिया जाता है.

SEO के लिए Internal links क्यों जरूरी है

Internal link की मदद से Google, blog के सभी pages या post को ढूंढ सकता है, उन्हें समझ सकता है और अच्छी ranking प्रदान कर सकता है.

On page SEO का internal link एक अहम हिस्सा है. यदि आप रणनीति के साथ internal linking करते हो तो आपके site की ranking बहुत ज्यादा बढ़ सकती है.

किसी भी site को search engine में ऊंची rank प्राप्त करने के लिए internal links पर लक्ष्य केंद्रित करना पड़ेगा.

Internal Linking करने के फायदे –

  1. User Experience सुधरता है.
  2. site का bounce rate घटता है और Dwell time बढ़ता है.
  3. पुराने post यूजर के सामने आते है और Pageviews बढ़ते है.
  4. search engine आपके site को आसानी से crawl करेंगे.
  5. Link Juice पास होगा इससे Page Authority बढ़ेगी.

SEO friendly internal linking कैसे करे

Anchor text में keyword का उपयोग करो

Google आज भी anchor text को यह जानने के लिए इस्तेमाल करता है कि वह pages किस बारे में है.

Anchor text में आपको अर्थपूर्ण शब्द का उपयोग करना चाहिए जिससे users और search engines दोनों आसानी से समझ सके कि उन्हें anchor text पर क्लिक करने के बाद क्या मिलने वाला है.

उदाहरण के लिए – मान लीजिये की आपको पर्सनल ब्लॉग क्या है इस पोस्ट को लिंक करना है तो आपको Anchor text में Personal blog या पर्सनल ब्लॉग मतलब इस तरह के keyword का उपयोग करना चाहिए. (यही देखो मुझे personal blog meaning in hindi इस पोस्ट को इंटरनल लिंक करना था तो मैंने anchor text में keyword का यूज़ किया है.)

सबसे महत्वपूर्ण Pages को link करो

जब आप अपने site पर एक page से दूसरे page को link करते हैं तो आप उस page को link authority भेजते हो.

यह internal links, external links जितनी पावरफुल नहीं होते लेकिन वह मददगार जरूर है.

इसलिए होशियार SEO विशेषज्ञ रणनीति के साथ internal links करते हैं.

आप भी यह कर सकते.

कैसे ?

इसलिए आपको site के उन pages को find करना चाहिए जो सबसे ज्यादा authority प्रदान कर रहे हैं. और उन site से आपको अपने नए post पर internal link add करना है.

Internal link को Page के Top पर Add करो

जब आप internal link को page के पहले 2-3 लाइन में या पहले पैराग्राफ में add करते हो तो आपके site का bounce rate कम होता है और user का रुकने का टाइम (dwell time) बढ़ता है.

SEO में इसका कैसे फायदा मिलता है?

जब कोई user आपके site पर ज्यादा समय बीताता है तो Google को लगता है कि “लोगों को यह result पसंद आ रहा है तब Google समजता है की यहां पर बेस्ट कंटेंट मौजूद है और इस keyword के लिए यह सही कंटेंट है.”

इसके बाद Google आपके page की ranking बढ़ाता है.

Internal link को Dofollow रखो

यदि आप internal links के द्वारा PageRank भेजना चाहते है तो आपको इसे Dofollow link बनाना जरूरी है.

मैंने देखा है कि बहुत से नए ब्लॉगर अपने internal link को Nofollow बनाते हैं. इसके कारण Link juice पास नहीं होता. और Google के robots आपके Site को fast crawl नहीं कर पाते.

और यह SEO में बहुत महत्वपूर्ण है इसलिए आपको Internal links को Dofollow Link बनाना चाहिए.

Internal links के लिए Plugin का उपयोग मत करो

मुझे इन tool को यूज करना बिल्कुल पसंद नहीं है और आपको भी internal linking करने के लिए tool का उपयोग नहीं करना चाहिए.

क्योंकि यह plugins किस पेज को internal link की ज्यादा जरूरत है यह ना समझते हुए एक click में कई सारे internal links बनाते हैं. वह सिर्फ keyword को मैच करके Internal Links बनाते है.

Internal link सिर्फ SEO के लिए जरूरी नहीं है. वह user को भी related content ढूंढने में मदद करते हैं.

उदाहरण – tools या Plugins इस तरह के internal links कभी नहीं बना सकते.

internal linking kaise kare

Anchor text को Descriptive लिखो

Anchor text क्या है – Anchor text वह text है जिसको किसी पोस्ट से Hyperlink किया जाता है और उस text के ऊपर क्लिक करके यूजर उस पोस्ट पर पहुचता है.

आपका anchor text हमेशा search engines और users के लिए मददगार होना चाहिए. उन्हें समझ जाना चाहिए कि anchor text पर click करने के बाद किस तरह का content उन्हें मिलेगा. anchor text को हमेशा short लेकिन Descriptive लिखो.

Google किसीभी site के पोस्ट बारे में कंटेंट, Page titles और anchor text की मदद से समझता है.

आखिर में …

On-page SEO में internal linking करना मतलब कम महनत में ज्यादा Profit कमाने जैसा है, लेकिन इसके पहले आपको उन Technics को सीखना होगा जो intenal linking से ज्यादा Benefits लेने के लिए फायदेमंद है. और उन सब Technics को हमने आपके साथ इस post में share किया है.

उम्मीद है की आपको हमारा Internal Linking क्या है और कैसे करे यह पोस्ट समाज में आया होगा. ऐसा है तो इसे Social Media पर जरुर share करो.

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *