Google क्या है? गूगल की खोज किसने की है|Google in Hindi

आज के समय हम किसी भी चीज के बारे में जानने के लिए search engine का सहारा लेते हैं, जो हमें कुछ ही सेकंद में जानकारी प्रदान करता है।

लेकिन आज से 15-20 साल पहले internet नया था तब जो सर्च इंजन उपलब्ध थे वह सही जानकारी प्रदान नहीं कर पाते थे।

ऐसे मे उन दिनों websites तो बन रही थी। लेकिन यह नहीं पता चलता था कि किस website में कौन सी जानकारी उपलब्ध है।

इसी परेशानी को दूर करने के लिए एक ऐसा सर्च इंजन बनाया गया जो यूजर्स को सही जानकारी प्रदान करता है।

जो आगे जाकर दुनिया का सबसे बड़ा सर्च इंजन Google बन गया।

आगे गूगल क्या है, गूगल क्या करता है, गूगल का इतिहास, गूगल के सभी प्रोडक्ट यह सबकुछ और बहुत कुछ जानेंगे। तो आप हमारे साथ आखिर तक बने रहो।

Google क्या है?

Google एक अमेरिकन company है जिसे ज्यादातर लोग search engine के तौर पर जानते हैं। गूगल का पूरा नाम है – “GLOBAL ORGANIZATION OF ORIENTED GROUP LANGUAGE OF EARTH”

इसे शुरू करने का मकसद लोगों को दूसरे वेबसाइट में से सही जानकारी निकाल कर देना था।

इसके लिए स्टैनफोर्ड यूनिवर्सिटी कैलिफोर्निया में पढ़ने वाले 2 छात्र Sergey Brain और Larry Page ने अपने PHD के research project के लिए PageRank यह टॉपिक चुना था। आगे इस प्रोजेक्ट ने एक कंपनी का रूप लिया।

इसमें वह वेबसाइट के पेजेस को रैंक करते थे। यह रैंकिंग Backlink के आधार पर की जाती थी। जिस पेज को दूसरे वेबसाइट से जितने ज्यादा लिंक मिलेंगे वह वेबसाइट रैंकिंग में उतनी ही उपर दिखेगी।

यह PageRank की प्रक्रिया आगे चलकर बेहतर ही होती चली गई और आज के समय में गूगल के 200 से ज्यादा Ranking Factors है। जिसके बेसिस पर Page Ranking कि जाती है।

गूगल आज दुनिया की सबसे बड़ी कंपनियों में से एक हैं।  Google के 50 देशों में 70 ऑफिसेस है। जिसमें 2 लाख से ज्यादा फुल टाइम वर्कर्स है।

हाल ही में एक रिपोर्ट के अनुसार Google का revenue 181.69 बिलियन अमेरिकन डॉलर बताया गया था। गूगल का ज्यादातर revenue विज्ञापन से आता है। जो साल 2020 में 146.9 बिलियन अमेरिकन डॉलर था।

Google कैसे करते है?

हमने आपको निचे गूगल कैसे किया जाता है यह step by step बताया है। जिसकी मदद से आप गूगल का उपयोग करना सिख जाओगे।

स्टेप 1 – यहा क्लिक करके Google पर जाओ।

स्टेप 2 – वहापर आपको जो जानकारी चाहिए उसके बारेमे type करके search करना है।

स्टेप 3 – search करने के बाद आपके सामने बहुत सारे search रिजल्ट दिखेंगे आपको जो अच्छा लगे उसपर आपको क्लिक करना है।

स्टेप 4 – आपको आपका जवाब मिल जायेगा।

आप अपने आप को बधाई दो आपने गूगल करना सिख लिया है।

Google का इतिहास

जब 1996 में जब Larry Page और Sergey Brain ने PageRank पर Research Project बनाया था। तो उस Project का नाम “BackRub” था।

लेकिन इसके 1 साल बाद 1997 में उन्होंने नाम बदला और 14 सितंबर 1997 के दिन “Google.com” नाम का डोमिन officially रजिस्टर कर दिया।

Google नाम कैसे चुना गया था?

James Newman और Edword Kasner की किताब mathematics and imagination में लिखा गया शब्द Googol से प्रेरित होकर इसे Larry Page और Sargey Brain ने अपने सर्च इंजन का नाम चुना।

“Googol” का मतलब होता है 1 के पीछे 100 zero.

लेकिन गलती के कारण इसे Googol के बजाय Google लिखा गया। और बाद में इसा में सुधार नहीं करनेका निर्णय लिया गया। इस तरह से Google का नाम चुजैसेना गया था।

दोनों फाउंडर का एक ही मकसद था कि दुनिया की सभी जानकारी को एक जगह लाना और उसे index के form में रखना। और वही उन्होंने किया है।

1998 – Google को पहली फंडिंग 1 लाख डॉलर की मिली थी। यह फंडिंग Sun Microsystems के co-founder Andy bechtolsheim द्वारा मिली थी।

2003 – मार्च 2003 में Google ने AdSense Program की स्थापना की थी। इसका original नाम content targeting advertising है। इसकी मदद से पब्लिशर्स को पैसे कमाने के अवसर खुल गये।

2004 – 19 अगस्त 2004 में गूगल ने अपना IPO लाया था। इस IPO में सभी शेयर ऑनलाइन माध्यम से भेजे गए थे। गूगल ने इस साल web based email service की स्थापना की थी। इसी साल Google ने Google earth की भी स्थापना करी थी।

2005 – इस साल Google ने Android को खरीदा था। बढ़ते मोबाइल यूजर के कारण गूगल में इसी साल मोबाइल के लिए mobile web search की शुरुआत की।

2006 – इस साल Google video की शुरुआत करी गई। यूज़र अब से गूगल में videos के लिए भी सर्च कर सकते थे। इसी साल गूगल ने YouTube को 1.65 बिलियन डॉलर में खरीदा था। जो आज दुनिया का दूसरा सबसे बड़ा सर्च इंजन है। इसी साल गूगल ने Google Docs किभी स्थापना की थी।

2008 – गूगल ने Chrome browser की स्थापना कि थी। जो आज दुनिया का सबसे लोकप्रिय browser है।

2011 – इस साल Google के co-founder लैरी पेज ने CEO का पद छोड़ा था और Eric Schmidt गूगल के CEO बने।

2015 – इस साल Google के नए CEO बने जिनका नाम सुंदर पिचाई है, जो भारतीय है।

2016 – गूगल ने अपने पहले फोन की स्थापना की जिसका नाम है Pixel. इसीके साथ गूगल ने मोबाइल बिज़नेस में अपना कदम रखा। Pixel में इमेजेज और विडियो के लिए अनलिमिटेड स्टोरेज मिलता है।

2017 – गूगल ने मोबाइल manufacture की अछि जानकारी के बाद HTC को 1.1 बिलियन डॉलर में खरीदा।

यह रहा है गूगल का इतिहास, गूगल हमेशा आगे ही बढ़ता चला गया। google ने कुछ ही सालो में इन्सान के बहुत से काम बिलकुल ही आसन बनाये है। आगे भी देखते है की गूगल क्या क्या करता है।

गूगल के बारे में FAQ

Google की खोज किसने की?

Google को Larry Page और Sargey Brain ने बनाया था। यह दोनों स्टैनफोर्ड यूनिवर्सिटी केलिफोर्निया में PHD कि पढ़ाई कर रहे थे। वहीं उनकी 1995 में एक दूसरे से मुलाकात हुई थी।

गूगल के CEO कौन है?

गूगल के CEO का नाम सुन्दर पिचाई (Sundar Pichai) है, जो मूल रूपसे भारत के तमिलनाडू से है।

गूगल किस देश की कंपनी है?

गूगल एक अमेरिकन कंपनी है। जिसका headquarter कैलिफ़ोर्निया में है।

Google असिस्टेंट की आवाज किसकी है?

गूगल असिस्टेंट ने अमेरिकन फीमेल आवाज के लिए किकी बेसेल आवाज को लांच किया।

Google Product के बारे में

आज गूगल के कई Products है, जिसमें search engine, YouTube, maps, Android, Chrome जैसे कई Products है जिसके बारे में मैं आपको नीचे बताऊंगा। google के प्रोडक्ट को देखकर आप जान सकते हो की गूगल क्या क्या काम कर सकता है।

  • Android – यह दुनिया में सबसे ज्यादा यूज होने वाला operating system है। जिसे खासकर smartphone में ज्यादा यूज किया जाता है।
  • Chrome OS – laptop और computer के लिए बनाया गया operating system
  • Blogger – यहां पर आप बिल्कुल फ्री में अपना Blog बना सकते हो। जिसके जरिए आप अपने विचार लोगों तक पहुंचा सकते हो। यह पोस्ट पढो – Professional Blogger Website कैसे बनाये
  • Gmail – फ्री online email सेवा मिलेगी साथ में 1GB storage मिलेगा।
  • Google Ads – इसे Google AdWords के नाम से भी जाना जाता है। यह गूगल का online advertising program है। जहासे आप online Ads चला सकते हो।
  • Google AdSense – इस Service के माध्यम से website publishers या blog developers को उनके site पर Ads दिखाने के लिए पैसे दिए जाते हैं।
  • Google Alerts – Google Alerts जब यूजर्स को नए परिणाम मिलते हैं – जैसे वेब पेज, समाचार पत्रलेख, ब्लॉग जो यूजर्स के search word से मेल खाते हैं तो यह सेवा यूजर्स को ईमेल भेजती है।
  • Google Analytics – Google Analytics की मदद से वेबसाइट ऑनर्स उनके site पर विजिटर की निगरानी और रिपोर्ट बना सकते हैं।
  • Google App Engine – यह app developers को पूरी तरह से serverless platform पर किसी भी प्रोग्रामिंग भाषा में स्केलेबल वेब और मोबाइल app बनाने देता है।
  • Google Assistant – यह एक Digital Assistant Service है। जो artificial intelligence का उपयोग करके voice requests को respond देती है।
  • Google Blog – Google द्वारा चलाया जाने वाला blog है। जो कंपनी के बारे में जानकारी देने में मदद करता है।
  • Google Books – Google कि इस सेवा में सैकड़ों हजारों पुस्तकें हैं जिन्हें खोजा जा सकता है।
  • Google Meet – गूगल मीट एप्लीकेशन का उपयोग रियल टाइम मीटिंग्स और विडियो कॉन्फ़्रेंसिंग के लिए किया जाता है।
  • Google Cloud – यह प्लेटफार्म डेवेलोपेर्स को गूगल के उच्च स्केलेबल और विश्वसनीय ढांचे पर एप्लीकेशन बनाने, परिक्षण करने और तैनात करने में सक्षम बनाता है।
  • Google Translate – गूगल की इस सेवा में आप अंग्रेजी और 100 से अधिक भाषाओ के बीच शब्दों, वाक्यों और web पेजों का तुरंत अनुवाद कर सकते है।
  • Google Calendar – गूगल केलिन्डर के साथ आप जल्दी से मीटिंग और इवेंट शेड्यूल कर सकते है और आगामी गतिविधि के बारेमे रिमाइंडर प्राप्त कर सकते है।
  • Google Sheets – इसके जरिये आप स्प्रेडशीट्स को web browser से डायरेक्टली क्रिएट और एडिट कर सकते है।
  • Google Drive – google drive एक cloud based storage समाधान है जो आपको file को ऑनलाइन save और उन्हें किसी भी स्मार्टफ़ोन, कंप्यूटर और टेबलेट से कही भी एक्सेस करने की अनुमति देता है।

गूगल पैसे कैसे कमाता है (Google Business Model)

आपने जाना होगा की गूगल की ज्यादा तर सर्विसेज फ्री है तो हर किसी के मन में यह सवाल आता होगा की आखिर गूगल अपने लिए पैसे कैसे कमाता है। तो इसका जवाब है Advertisements के जरिये।

गूगल 90 प्रतिशत से ज्यादा पैसे advertisements से कमाता है। इसमें गूगल एडवर्ड्स और गूगल ऐडसेंस यह दोनों प्रोडक्शन शामिल हैं।

Google AdSense –

गूगल के पास Advertisers आते हैं, जिनके Ads को गूगल, पब्लिशर्स की वेबसाइट या ब्लॉग में दिखाता है। जब यूजर्स ads पर क्लिक करते है तो गूगल इस Ads का कुछ प्रतिशत पब्लिशर्स के साथ शेयर करता है और बाकी खुद के लिए रखता है। लगभग गूगल कमाई का 45% पब्लिशर्स के साथ शेयर करता है और बाकी 55% खुद रखता है।

गूगल वही ads दिखाता है जो आप देखना चाहते हो। इसके लिए वह आपकी search एक्टिविटी को track करता है। ऐसे में गूगल के लिए Users ही उसका असली प्रोडक्ट है।

इस तरह से गूगल पब्लिशर और एडवरटाइजर्स दोनों को मिलाने का काम करता है।

Google Adwords –

यह गूगल की online advertising service है, यहापर advertisers गूगल को पैसे देते है जिसके बदले में गूगल उनकी ads को सही यूजर्स तक पहुचाता है। यहापर advertisers को सिर्फ ads पर क्लिक होने के बाद ही पैसे पे करने होते है। जिसे हम PPC Campaign बोलते है।

यह campaign चलाने के लिए advertisers सभी जानकारी देता है जिसमे वह बताता है की किस तरह के यूजर्स को उसकी ads दिखानी है। जिसके बाद ads चलाई जाती है । इस तरह से advertisers को उनके प्रोडक्ट बेचने के लिए मदद मिलती है। इसी कारन गूगल के पास advertisers आते है जिसके जरिये गूगल पैसे कमाता है।

इसके अलावा गूगल Google maps, Google cloud और play store से भी कमाई करता है।

Google in Hindi

मुझे उम्मीद है की आपको Google क्या है (what is Google in hindi) यह समज आया होगा। मुझे आशा है की आप किसीकोभी गूगल के बारेमे अच्छेसे बता पाओगे।

आज के जमाने में यह बहुत जरुरी है की आपको गूगल जैसे कंपनी के बारेमे जानकारी हो। क्योकि आज का जमाना internet का है ऐसे में गूगल internet की सबसे बड़ी कंपनी है। इसके अलग-अलग फीचर्स का यूज करके आप अपनी जिंदगी को बेहतर और आसान बना सकते हैं।

मैंने यह जानकारी आप तक गूगल के जरिये ही पहुचाई है। इसतरह से गूगल हर वक्ती के जीवन पर डायरेक्ट असर करता है।

हमें कमेंट में बताओ की आपको गूगल कोनसा फीचर या प्रोडक्ट बहुत पसंद है जिसे आप बहुत ज्यादा यूज करते है।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *