DBMS क्या है? DBMS में DBA , Database , लाभ और हानी, History

DBMS क्या है

Database management system एक सॉफ्टवेयर है। इसे database को मॅनेज करने के लिए किया जाता है। उदाहरण – MySQL, oracle यह लोकप्रिय DBMS software है जिन्हें अलग-अलग एप्लीकेशन में यूज किया जाता है।

यहा एक गाइड है – SQL क्या है? SQL Commands, DDL, DML, DCL, लाभ, इतिहास और बहुत कुछ

Database क्या है?

Database मतलब आपस में एक दूसरे से संबंधित data का collection होता है। डेटाबेस में डेटा table, schema, views और reports की फॉर्म में हो सकता है मतलब यह structure और unstructure के फॉर्मेट में हो सकता है।
उदाहरण – school नाम के database होगा तो उसमें students, teachers और subjects इस तरह का डाटा शामिल होता है।

Database management system

  • DBMS एक interface देता है जिसकी मदद से database पर अलग-अलग ऑपरेशन किए जाते हैं। जैसे कि – database को create करना, data को database में store करना, data को update करना, database में table create करना, और बहुत कुछ।
  • यह Database को security provide करता है।

DBMS का उपयोग (विशेषताए)

  • Data definition – Data definition commands का उपयोग database को create, modify और remove करने के लिए किया जाता है।
  • Data updation – इस commands का उपयोग database में वास्तविक data को insert, modify, delete करने के लिए किया जाता है।
  • Data Retrieval – इस commands का उपयोग database से data को retrieve करने के लिए किया जाता है।
  • User administration – इसका उपयोग user को पंजीकृत करने और निगरानी करने, डाटा अखंडता बनाए रखने, डेटा सुरक्षा को लागू करने, समवर्ती निमंत्रण से निपटने, प्रदर्शन की निगरानी करने और अपेक्षित विफलता से दूषित जानकारी को पुनः प्राप्त करने के लिए किया जाता है।

DBMS में DBA

DBMS में database administrator (DBA) एक IT प्रोफेशनल वर्कर होता है। जो organisation के डेटाबेस के साथ create, maintain, query यह काम करता है।

एक रोल के लिए प्रोफेशनल को कंपनी जो RDBMS यूज कर रही है उसका अच्छा नॉलेज और अनुभव होना जरूरी है।

Company के जरूरत के अनुसार DBA के अलग-अलग टाइप है।

  1. Administrator DBA – यह organisation के डेटाबेस और सर्वर को मेंटेन करता है।
  2. Development DBA – यह SQL queries के development पर काम करते हैं। यह database development में स्पेशलाइज्ड होते हैं।
  3. Data architect – यह schemas design करते हैं, data structure, table indexes और relationships बनाते हैं। वे business की जरूरत के अनुसार अपना काम करते हैं।
  4. Data warehouse DBA – यह कई data स्त्रोतों से data मर्ज करते हैं और उन्हें डाटा वेयरहाउस में संग्रहित करते हो।

DBMS के लाभ और हानी

DBMS के लाभ

Redundancy problem solve –

फाइल सिस्टम में बहुत जगह पर duplicate data क्रिएट होता है क्योंकि सभी programmers कि अपनी खुद की फाइल होती है। जिसकी वजह से data redundancy होती है। जो टाइम वेस्ट करती है।

DBMS में सभी फाइल से एक ही database में एकीकृत होती है। इसलिए duplicate data की कोई संभावना नहीं है।

High security level –

DBMS आपकी कीमती डेटा को अनधिकृत पहुंच से बचाता है। सिर्फ अधिकृत यूजर्स के पास क्रेडेंशियल की सहायता से database तक पहुंचने की परमिशन होती है।

Support multiple users –

DBMS एक से ज्यादा यूजर्स को एक ही टाइम पर किसी भी संघर्ष के बिना same database को access करने की अनुमति देता है।

Avoidance of inconsistency –

Data consistency मतलब यदि आप किसी फाइल में डेटा अपडेट करना चाहते हैं तो सभी files को फिर से अपडेट नहीं किया जाना चाहिए। DBMS में data को एक ही database में संग्रहीत किया जाता है। इसलिए प्रोसेसिंग सिस्टम की तुलना में डेटा अधिक consistent हो जाता है।

Restrict to unauthorised access –

सुरक्षा क्रेडेंशियल के कारण अनाधिकृत व्यक्तियों को डेटाबेस तक पहुंचने की अनुमति नहीं है।

Provide backup for data –

DBMS स्वचालित रूप से बैकअप और डेटाबेस की पुनर्प्राप्ति इस समस्या को हल करता है।

DBMS के हानी

Complexity –

Non-technical यूजर्स के लिए Database बहुत complex है। यही कारण है कि database system को मैनेज करना आसान नहीं है। इसलिए database system को चलाने के लिए डिजाइनर्स, यूजर्स और एडमिनिस्ट्रेटर को ट्रेनिंग की जरूरत होती है।

Size –

शुरुआती समय में database का घर बड़ा नहीं होता है, लेकिन जब यूजर्स बड़ी मात्रा में data संग्रहित करता है तो यह समस्या पैदा करता है। बड़े डेटा के कारण, डेटाबेस सिस्टम अच्छे परिणाम नहीं देते हैं और अच्छे से नहीं चलते है।

Performance –

Performance डेटाबेस सिस्टम का एक और बड़ा नुकसान है, क्योंकि छोटी फर्म और संगठनों के लिए डेटाबेस सिस्टम की गति बहुत धीमी है, छोटी संगठनों में डेटाबेस सिस्टम का प्रदर्शन खराब है।

Cost of Data Conversation –

यह data प्रबंधन प्रणाली के बड़े नुकसान में से एक है क्योंकि data conversion की लागत बहुत अधिक है क्योंकि data को सुचारू रूप से परिवर्तन करने के लिए प्रशिक्षित, कुशल और अनुभवी डेटाबेस प्रशासकों की आवश्यकता होती है।

Higher impact of failure –

संशोधनों का केंद्रीकरण सिस्टम की वैधता को पढ़ाता है क्योंकि सभी उपयोगकर्ता और एप्लीकेशन DBMS की उपलब्धता पर निर्भर करते हैं, किसी भी घटक की विफलता ऑपरेशन को रोक सकती है।

History of DBMS in Hindi

1960 – इस साल Charles Bachman ने पहला DBMS system डिजाइन किया।

1970-1972 – E.F.Codd ने relational database model इस साल लोगों के सामने लाया और इसे यूज करने के लिए महत्वपूर्ण पेपर प्रकाशित किए इसके बाद लोगों का database के बारे में सोचने का तरीका बदला।

1974-1977 – इंसानों के बीच दो प्रमुख relational database system prototypes बनाए गए थे। वह अंग्रेज और सिस्टम आर थे। इसी दशक में relational database management system (RDBMS) को लोकप्रियता मिल गई। और इसी साल में MS SQL server, Oracle, DB2 इनका जन्म हुआ।

1976 – पीटर चेन entity relationship model को परिभाषित किया जिसे E-R model के रूप में भी जाना जाता है। इस मॉडल की मदद से डिजाइनर logical table structure के बजाय data application पर फोकस कर सकते थे।

1980 – इस साल SQL standard query language बना। Relational model को इस साल बहुत लोकप्रियता मिली इसे database component में यूज़ किया जाने लगा।

1990 – इंटरनेट की आगमन से database उद्योग का तेजी से विकास हुआ। हर डेस्कटॉप यूजर ने कंप्यूटर सिस्टम को एक्सेस करने के लिए क्लाइंट-सर्वर डाटाबेस सिस्टम का उपयोग करना शुरू किया।

2000 – आज के समय में डाटा बेस हर जगह यूज़ हो रहा है। व्यक्तिगत क्लाउड स्टोरेज से लेकर सोशल मीडिया वेबसाइट्स इन सेवाओं में भी database का यूज किया जाता है।

वर्तमान – वर्तमान में non-relational डेटाबेस स्पेशल विशिष्ट समाधान पेश करने के लिए नए system आए हैं। लेकिन आज भी Oracle, MySQL और DB2 यह सबसे ज्यादा यूज होने वाले RDBMS है।

आखिर में…

बहुत से Datatabase Management System (DBMS) है। जिन में MySQL, Oracle, PostgresSQL, SQL Server, MongoDB, Redis, Elasticsearch, Cassandra, MariaDB, IBM Db2 यह आजके समय सबसे ज्यादा यूज होने software है।

लेकिन इनमेसे मैं आपको MySQL या Oracle को सीखने की सलाह दूंगा। क्युकी ज्यादातर बड़ी कम्पनीज इनका ही इस्तमाल करती है।

आप इन DBMS software को ऑनलाइन विडियो या text टुटोरिअल के माध्यम से आसानी से सिख सकते हो।

मैं उम्मीद करता हु की आपको DBMS क्या है यह समज आया होगा। मैं बस यही चाहूँगा की आप इस आर्टिकल को अपने दोस्तों के साथ जरुर शेयर करो।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *