Blog क्या होता है (2021) – ब्लॉग का इतिहास, प्रकार, ब्लॉग Vs वेबसाइट

दोस्त आपने हाल ही के दिनों में blog या blog क्या है यह बहुत ज्यादा सुना होगा। क्योंकि जब से भारत में जिओ का निर्माण हुआ है तब से हर कोई इंटरनेट यूज कर रहा है। यही कारण है कि आज के समय में लोग ऑनलाइन पैसा कमाना चाहते हैं।

और बात ऑनलाइन पैसे कमाने की आती है तो आपको यूट्यूब और ब्लॉग के बारे में आप सुनने को मिलता है।

ऐसे में लोगों के मन में एक ही सवाल आता है की ब्लॉग क्या होता है?

यदि आपको भी ब्लॉग के बारे में जानकारी नहीं है और आप जानना चाहते हैं, तो आप बिल्कुल सही जगह पर आए हैं। क्योंकी इस पोस्ट में मैं आपको blog क्या होता है से लेकर इससे पैसे कमाने तक सब कुछ बताने वाला हूं।

तो आप इस पोस्ट के साथ आखिर तक बने रहो।

Blog क्या होता है

ब्लॉग का अर्थ

Blog एक ऐसी website होती है जहां पर किसी एक व्यक्ति या छोटे समूह के द्वारा उनके पसंदीदा विषय पर नियमित रूप से पोस्ट लिखे जाते हैं।

एक पोस्ट में टेक्स्ट के साथ-साथ इमेजेस, ग्राफिक्स और वीडियोस का भी उपयोग किया जाता है।

जब कोई यूजर इंटरनेट के जरिए आपके blog पर पहुंचता है तो उसे नई पोस्ट सबसे ऊपर और पुरानी पोस्ट नीचे दिखेंगे।

दोस्त हम सबको उदाहरण के माध्यम से कोई भी चीज बहुत अच्छे से समझ आती है।

इसलिए ब्लॉग क्या है और कैसे दिखता नहीं है उदाहरण सहित समझते हैं

इसके लिए आप गूगल में किसी भी टॉपिक के बारे में सर्च करो। जैसे कि blog Kya hota hai.

सर्च करने के बाद आपके सामने कई रिजल्ट दिखेंगे। यह सभी रिजल्ट किसी ना किसी ब्लॉग के ऊपर पब्लिश किए हुए पोस्ट होते हैं।

इन रिजल्ट में से किसीभी एक रिजल्ट पर क्लिक करके आप ब्लॉग पर पहुंच जाओगे।

वहां से आप जान पाओगे कि आखिर एक ब्लॉग कैसे दिखता है।

ब्लॉग का इतिहास (Timeline)

दुनिया का सबसे पहला ब्लॉग links.net था। इस ब्लॉग को Justin Hall इस व्यक्ति ने 1994 में अपने लेखन को पब्लिश करने की जगह के तौर पर बनाया था।

इन्हें देख कर दूसरे लोग भी अपनी sites बनाने लगे और अपने विचार शेयर करने लगे। इन sites को personal pages या online diaries कहा जाता था।

इन दिनों तक blog शोध नहीं लगा था।

1997 में jorn Barger इन sites को weblog का नाम दिया।

1198 में ओपन डायरी इस ब्लॉगिंग प्लेटफॉर्म का निर्माण हुआ जिसमें यूजर एक दूसरे के लेख पर टिप्पणी कर सकते थे। स्टोन की मदद से किसी को भी ब्लॉगिंग करना आसान बना।

1999 इस साल Peter Merholz ने weblog को बदलकर blog शब्द में तब्दील किया। इसी साल blogger.com इस blogging प्लेटफार्म किभी शुरुआत हुई थी। यह आज Google के पास है।

2000 जैसे-जैसे ब्लॉगिंग अधिक लोकप्रिय होती गई तो अपने ब्लॉग को मार्केटिंग करने के लिए कई टूल का निर्माण हुआ।

2002 यह साल ब्लॉग जगत के लिए बहुत विशेष साबित हुआ। इस साल से लोगने अपने Blog से पैसे भी कमाना शुरू किया था। यह पैसे वह Google AdSense और blog ads जैसे प्लेटफार्म की मदद से कमाते थे।

2003 इस साल blogger नामक ब्लॉगिंग प्लेटफॉर्म को गूगल ने खरीदा था और दुनिया को स्वतंत्र रूप से फ्री में उपलब्ध कराया था। आज भी यह गूगल के पास है जिसपर कोई भी अपना एक फ्री ब्लॉग बना सकता है।

इसी साल 2 नए ब्लॉगिंग प्लेटफॉर्म्स की शुरुआत हुई थी। जिसमें पहला है TypePad और दूसरा है WordPress यह दोनों ब्लॉग को होस्ट करते थे। और आज भी करते हैं।

आप जो (skillohindi.in) ब्लॉग पढ़ रहे हैं यह हमारी साइट WordPress पर ही पोस्ट है।

प्लेटफार्म की मदद से किसी को भी एक blog बनाकर उसे मैनेज करना आसान हो गया। यहां पर ब्लॉग बनाने के लिए प्रोग्रामिंग नॉलेज की बिल्कुल भी जरूरत नहीं पढ़ती।

2005-2010 इन सालों में ब्लॉगिंग बहुत ही ज्यादा ग्रो हुआ। 2005 में कई सारे पॉलीटिकल ब्लॉग की शुरुआत हुई थी। इसके अलावा सभी मीडिया वेबसाइटों ने अपना अपना ब्लॉग शुरू किया था।

आज के समय में हर मीडिया वेबसाइट्स का अपना एक ब्लॉग है।

2011 इस साल गूगल ने अपने एल्गोरिदम में बदलाव किया। और उन साइट्स को दंडित किया जिन्होंने डुप्लीकेट सामग्री को अपने ब्लॉग में डाला था।।

2012 इस साल तक ब्लॉगिंग बहुत लोकप्रिय हो गई थी यही कारण है कि वर्डप्रेस ने अपने संभावित ब्लॉग यूआरएल की सूची में .blog इस डोमेन एक्सटेंशन को भी शामिल किया।

इसका मतलब अब से लोग .com, .org, .in, .net के अलावा .blog इस एक्सटेंशन के साथ भी अपना डोमेन नेम चुन सकते हैं।

ब्लॉग के प्रकार – Types of Blog in Hindi

ब्लॉग में किसी भी प्रकार का कंटेंट पब्लिश किया जा सकता है। लेकिन पाठकों को आकर्षित करने और दुबारा वापस लाने के लिए आपको लोगों को जो कंटेन चाहिए वही देना है।

यदि आप आज के समय में ब्लॉगिंग करना चाहते हैं तो आपको ब्लॉग के प्रकार के बारे में जरूर जानना चाहिए। क्योंकि इससे आपको समझ आएगा कि आपके लिए कौन सा Blog प्रकार सही है।

यहां पर हमने 5 सबसे कॉमन ब्लॉग के प्रकार को बताया है।

1. Personal blog –

नाम से ही पता चलता है कि पर्सनल ब्लॉग में ब्लॉग लिखने वाला खुद के बारे में लिखता है।

पर्सनल ब्लॉग दूसरे ब्लॉक प्रकारों से बिल्कुल अलग होता है। पर्सनल ब्लॉग में ब्लॉगर खुदके पसंदीदा टॉपिक या किसी विषय पर खुद के विचार लिखता है। इस तरह के ब्लॉग पर लोग ब्लॉगर के विचारों को पढ़ने आते हैं। यहा एक गाइड है – Personal Blog Meaning in Hindi

2. Business blog –

अपने ज्ञान और विशेषज्ञता की मदद से पैसा कमाने के लिए business blog एक सर्वोत्तम तरीका है।

इस तरह के ब्लॉग में संभावित ग्राहकों का ध्यान अपनी तरफ आकर्षित करके उनको अपना प्रोडक्ट बेचा जाता है।

3. Affiliate blogs –

Affiliate blogs में पोस्ट के माध्यम से दूसरों के प्रोडक्ट और सर्विसेस को प्रमोट किया जाता है। और जब यह प्रोडक्ट आपके ब्लॉग की link के द्वारा खरीदा जाता है तो आपको कुछ प्रतिशत हिस्सा मिलता है।

इस तरह के ब्लॉग में ब्लॉक ऑनर ज्यादातर प्रोडक्ट रिव्यूज या ट्यूटोरियल जैसे पोस्ट देखते हैं और साथ ही इस के बीच में उस प्रोडक्ट का लिंक ऐड करते हैं। इस लिंक को affiliate link कहां जाता है।

यदि आप ब्लॉगिंग से पैसा कमाना चाहते हैं लेकिन आपके पास भेजने के लिए खुद का प्रोडक्ट नहीं है तो आपके लिए affiliate blog शुरू करना एक बेहतर निर्णय होगा।

4. Nice blog –

Niche blog क्या है?

Niche मतलब बड़े विषय का एक छोटा सेक्शन।

Niche Blog में जो भी पोस्ट लिखा जाता है वह सिर्फ एक तरह के पाठको को या niche को ध्यान में रखकर लिखा जाता है। मतलब आप सिर्फ एक ही टॉपिक पर ब्लॉगिंग करोगे।

उदाहरण – Finance एक टॉपिक है तो Personal Finance उसकी Niche है। यदि आप Personal finance इस niche का ब्लॉग बनाते हो तो आप सिर्फ इसी के रिलेटेड ही पोस्ट लिखोगे।

5. News blog –

news blog यह एक ऐसा ब्लॉक प्रकार है जिसमें खर्चा बहुत है।

News blog में सफलता पाने के लिए बहुत ज्यादा कंटेंट की आवश्यकता होती है। इसमें हर रोज ज्यादा से ज्यादा पोस्ट डालने होते हैं।

इस तरह के ब्लॉग को चलाने के लिए एक टीम की जरूरत होती है और इसमें पैसा भी बहुत लगता है।

भारत में ब्लॉग लेखन कब शुरू हुआ?

भारत में ब्लॉग लेखन की शुरुआत 21 वी सदी मतलब 2001 से हुई थी।

हालांकि शुरुआती समय में यह सिर्फ अंग्रेजी तक ही सीमित था। लेकिन जैसे-जैसे कंप्यूटर पर अन्य भाषाओं में भी टाइप करना संभव हुआ वैसे वैसे अन्य भाषाओं में भी ब्लॉग लेखन बढ़ता चला गया।

आप नई-नई चीजें सीख सकते है

यदि आप अपना एक ब्लॉग बनाते हैं तो साथ में आप SEO, कंटेंट राइटिंग, सोशल मीडिया मार्केटिंग, टाइम मैनेजमेंट, वेबसाइट डिजाइनिंग जैसी कई चीजें सीखोगे।

इसके अलावा आप हर ब्लॉग पोस्ट लिखने से पहले जब रिसर्च करोगे तो इससे आपका ज्ञान भी बढ़ेगा।

ऑनलाइन दुनिया में पहचान के साथ विश्वास बनेगा

यदि आप अपने ब्लॉग पर अच्छा लिखते हैं और लोगों को फायदा पहुंचता है तो वह आपके ब्लॉग को जरूर पढ़ते हैं। इस तरह से आपका ब्लॉग हजारों लाखों लोगों तक पहुंचता है और लोगों का आपके प्रति विश्वास बनता है।

आप अपना प्रोडक्ट बेच सकते हो

यदि आपका ब्लॉग है तो आप ब्लॉग के माध्यम से अपने प्रोडक्ट को भेज भी सकते हैं। लेकिन इसके लिए आपको पहले एक ही अवसर पर तैयार करना होगा। और यूजर विस्तार करने के लिए आपको ब्लॉक पर अच्छा लिखना होगा और SEO भी करना होगा।

ब्लॉग से आपको आजादी मिलती है

यदि आप एक ब्लॉगर हैं या अपना एक ब्लॉग बनाना चाहते हैं तो मैं आपको बता दूं कि आप ब्लॉगपर दुनिया के किसीभी कोने से काम कर सकते हैं। इसके अलावा आपका कोई बॉस नहीं होगा। यही कारण है कि ब्लॉग बनाकर आप अपने तरीके से जिंदगी जी सकते हैं।

ब्लॉग के कारण आपका टेक्निकल नॉलेज बढ़ेगा

यदि आप अपना ब्लॉग बनाते हैं तो इसके साथ आप अन्य टेक्निकल चीजों को भी देखोगे। जिसमें वर्डप्रेस वेबसाइट डिजाइन, यूआरएल, डोमेन और होस्टिंग को जोड़ना, SEO करना जैसी बहुत सी टेक्निकल चीजें शामिल हैं।

Blog बनाने के लिए क्या-क्या जरुरी है

यहापर हमने एक ब्लॉग बनाने को लगने वाली सबसे जरुरी चीजो के बारे में बताया है।

Niche

वैसे तो ब्लॉग बनाने के लिए niche की जरूरत नहीं होती लेकिन यदि आप एक प्रोफेशनल ब्लॉग बनाना चाहते हैं तो आपको Niche चुनना बहुत जरूरी है।

Niche क्या होता है इसके बारे में हमने ऊपर बताया है। Niche इसलिए चुना जरूरी है ताकि आप पाठकों को अपनी तरफ आकर्षित कर सकें। क्योंकि ज्यादातर पाठक multi-niche ब्लॉग की तरफ आकर्षित नहीं होते। इसके उलट वह Niche पहले ब्लॉग को फॉलो करना पसंद करते हैं।

गूगल भी Niche वाले ब्लॉक को ज्यादा प्रमोट करता है। इसलिए ब्लॉग की ग्रोथ में भी आसानी होती है।

Blogging Platform

ब्लॉग बनाने के लिए आपको ब्लॉगिंग प्लेटफॉर्म की जरूरत पड़ेगी। ऐसे में 2 नाम आपके सामने आएंगे एक है ब्लॉगर और दूसरा है वर्डप्रेस।

ब्लॉगर

ब्लॉगर गूगल का प्लेटफार्म है जहां पर आप फ्री में अपना ब्लॉग बना सकते हैं। ब्लॉगर पर आपको डोमेन और होस्टिंग को खरीदने की जरूरत नहीं होती। लेकिन आप चाहे तो अपना खुद का एक कस्टम डोमेन खरीद सकते हैं।

ब्लॉगर पर ब्लॉगिंग करने के लिए आपको कुछ लिमिटेशंस का सामना करना पड़ता है। यहां पर आपको थोड़ा सा कोडिंग का नॉलेज भी होना जरूरी है।

यदि आप ब्लॉगिंग सीखने के लिए ब्लॉग बना रहे तो आप ब्लॉगर ब्लॉग बना सकते हैं।

वर्डप्रेस

वर्डप्रेस एक फ्री ओपन सोर्स ब्लॉगिंग प्लेटफॉर्म है। यहां से आपको अपने ब्लॉग को चलाने के लिए कस्टम डोमेन और होस्टिंग को खरीदना होता है। दुनिया के ज्यादातर ब्लॉग वर्डप्रेस पर ही बनाए गये हैं। हमारा ब्लॉग skillohindi जिसे आप पढ़ रहे हैं यह भी वर्डप्रेस पर ही बना है। यहा एक गाइड है – वर्डप्रेस क्या है? WordPress.org Vs WordPress.com (2021)

Domain

ब्लॉग बनाने के लिए आपको डोमेन नेम की जरूरत होती है। डोमेन नेम यानी आपके ब्लॉग का एड्रेस होता है जिसे सर्च करके लोग आपके ब्लॉग पर पहुंचते हैं।

डोमेन नाम को आप godaddy और namechaep जैसे वेबसाइट से खरीद सकते हो। एक नया डोमिनियन लेने के लिए आपको 500-1000 रुपए तक का खर्चा आता है। यहा एक गाइड है – Domain क्या है? – What is Domain Name in Hindi

Hosting

यदि आप ब्लॉगर पर अपना ब्लॉग बना रहे हैं तो आपको होस्टिंग की जरूरत नहीं होती। लेकिन यदि आप वर्डप्रेस पर अपना ब्लॉग बनाना चाहते हैं तो आपको होस्टिंग की जरूरत पड़ती है।

होस्टिंग की मदद से आपका ब्लॉग ऑनलाइन होता है। इसके अलावा होस्टिंग में आपके ब्लॉग का सभी डेटा स्टोर रहता है।

ब्लॉग को ऑनलाइन करने के लिए आपको डोमेन और होस्टिंग को जोड़ना होता है।

आखिर में.. (Blog क्या होता है)

blog बनाना तो आसान है लेकिन उसी ब्लॉग profitable बनाना मुस्किल है। ब्लॉग बनाकर उससे पैसे कमाने के लिए आपको कड़ी मेहनत करना पड़ता है। ब्लॉग बनाने के बाद आपको उसमे मूल्यवान कंटेंट लिखना होता है, अच्छा SEO करना पड़ता है। यह काम आपको लगातार करते रहना होता है तभी जाकर आप एक सफल ब्लॉग खड़ा कर सकते हो।

मैंने आपको Blog क्या होता है इसके बारेमे सभी जानकारी देने की कोशिश की है, मुझे उम्मीद है आपको वह समज आयी होगी।

यदि आप एक नया ब्लॉग बनाना चाहते है तो मैं आपको Niche Blog बनाने की सलाह दूंगा।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *